anandbakshi

राम करे ऐसा हो जाये - मिलन (१९६७)

गीत: राम करे ऐसा हो जाये
चित्रपट: मिलन (1967)
संगीत: लक्ष्मीकांत - प्यारेलाल
गीतकार: आनंद बक्षी
स्वर: मुकेश

Ram Kare Aisa Ho Jaye - Milan (1967) from Vinay Prajapati on Vimeo.



गीत के बोल:
राम करे ऐसा हो जाये
मेरी निंदिया तोहे मिल जाये
मैं जागूँ तू सो जाये

गुज़र जायें सुख से तेरी
दुःख भरी रतियाँ
बदल दूँ मैं तोसे अँखियाँ
गुज़र जायें सुख से तेरी
दुःख भरी रतियाँ
बदल दूँ में तोसे अँखियाँ
बस में अगर हो यह बतियाँ
माँगूँ दुआएँ हाथ उठाये
मेरी निंदिया तोहे मिल जाये
मैं जागूँ तू सो जाये
मैं जागूँ तू सो जाये, हो ओ

तू ही नहीं मैं ही नहीं
सारा ज़माना
दर्द का है एक फ़साना
तू ही नहीं मैं ही नहीं
सारा ज़माना
दर्द का है एक फ़साना
आदमी हो जाए दीवाना
याद करे गर भूल न जाए
मेरी निंदिया तोहे मिल जाए
मैं जागूँ तू सो जाये
मैं जागूँ तू सो जाये, हो ओ

स्वप्न चला आये कोई
चोरी चोरी
मस्त पवन गाये लोरी
स्वप्न चला आये कोई
चोरी चोरी
मस्त पवन गाये लोरी
चन्द्र किरण बन के डोरी
तेरे मन को झूला झुलाये
मेरी निंदिया तोहे मिल जाये
मैं जागूँ तू सो जाये
मैं जागूँ तू सो जाये, हो ओ

राम करे ऐसा हो जाये
मेरी निंदिया तोहे मिल जाये
मैं जागूँ तू सो जाये
मैं जागूँ
मैं जागूँ

Related

लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल 4187155311701453613

Post a Comment

  1. इस बेहतरीन गीत की प्रस्तुति के लिए आभार

    ReplyDelete
  2. खूबसूरत प्रस्तुति।

    ReplyDelete
  3. मन को स्पर्श करने वाला गीत है यह।

    स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं।

    ReplyDelete

आनन्द बक्षी साहब को समर्पित इस ब्लॉग पर प्रशंसक बनकर उन्हें श्रद्धांजलि दें।

emo-but-icon

Anand Bakshi

Legend Anand Bakshiआनंद बक्षी का जन्म रावलपिंडी (जो अब पाकिस्तान में है) में 21 जुलाई 1930 को हुआ। जब दस वर्ष के हुए तो माँ सुमित्रा का देहान्त हो गया। बँटवारे के बाद 2 अक्टूबर 1947 को पाकिस्तान से भारत आ गये। पहले स्विच बोर्ड अपेरेटर और फिर जब तक बाम्बे फ़िल्म जगत में काम नहीं मिला फ़ौज में थे। आये तो थे गायक बनने लेकिन गीतकार के रूप बहुत सफल रहे। यशराज चोपड़ा, बी आर चोपड़ा, मनमोहन देसाई, सुभाष घई जैसे बड़े फ़िल्मकारों के साथ काम किया और सफलता उनके क़दम चूमती रही।

Connect Us

item